Monday, July 22, 2024
हिंदी समाचार पोर्टल


D2M टेक्नोलॉजी से बिना इंटरनेट के मोबाइल में देख पाएंगे टीवी

D2M टेक्नोलॉजी से बिना इंटरनेट कनेक्शन के कंटेंट कर पाएंगे कंज्यूम, क्या बंद हो जाएंगी इंटरनेट उपलब्ध करवाने वाली बड़ी…

By शाम्भवी मिश्रा , in टेक्नोलॉजी  देश , at August 7, 2023 Tags: , , ,


D2M टेक्नोलॉजी से बिना इंटरनेट कनेक्शन के कंटेंट कर पाएंगे कंज्यूम, क्या बंद हो जाएंगी इंटरनेट उपलब्ध करवाने वाली बड़ी कंपनियां?

भारत जल्द ही D2M टेक्नोलॉजी डायरेक्ट टू मोबाइल सर्विस लागू करने वाला है, जो कि अब तक किसी भी अन्य देश ने लॉन्च नहीं किया है। इस स्मार्ट टेक्नोलॉजी की मदद से आप स्मार्टफोन पर बिना मोबाइल डाटा या इंटरनेट के कंटेंट कंज्यूम कर सकते हैं। यह तकनीक पूरी तरह से एफएम रेडियो की तरह है। आईआईटी कानपुर की तरफ से डायरेक्ट टू मोबाइल सर्विस टेक्नोलॉजी से संबंधित एक व्हाइट पेपर जारी किया गया है, जिसके मुताबिक भारत द्वारा इस टेक्नोलॉजी के लॉन्च किए जाने के बाद कई बड़ी कंपनियां जो डाटा उपलब्ध करवाती हैं, वे ठप्प पड़ जाएंगी।

कमाई का साधन बनेगा विज्ञापन :

D2M टेक्नोलॉजी डायरेक्ट टू मोबाइल सर्विस में एक ऐसी व्यवस्था लागू की जाएगी, जिसमें सरकार और कई प्राइवेट कंपनियां मिलकर काम करेंगी। यदि आप सोच रहे हैं कि आपको इसमें एडवर्टाइजमेंट देखने को नहीं मिलेगी तो ऐसा नहीं है। इसके अंतर्गत आपको फ्री सर्विसेज मिल रही है, वहीं आपको कुछ एडवर्टाइजमेंट भी देखने को मिलेगी ताकि कहीं न कहीं से रिवेन्यू पैदा हो सके। अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक एक और बात साफ हो गई है कि इसकी मदद से आप सिर्फ दूरदर्शन के चैनल ही देख पाएंगे। ऐसी बात नहीं है कि ब्राउज़िंग या इंटरनेट जैसी चीजें आपके फोन पर डायरेक्ट आ जाएंगी बल्कि इसमें सिर्फ दूरदर्शन के चैनल आएंगे और सरकार के द्वारा भेजी गई जानकारी विडियो के रूप में प्राप्त होगी।

सरकार डायरेक्ट मैसेज वीडियो के रूप में भेज पाने में होगी सक्षम :

D2M टेक्नोलॉजी डायरेक्ट टू मोबाइल सर्विस टेक्नोलॉजी को शुरू करने के पीछे सरकार का मुख्य उद्देश्य यह है इसकी मदद से शैक्षणिक कंटेंट को आसानी से एक जगह से दूसरी जगह स्मार्टफोन पर भेजा जा सकेगा। बता दें कि भारत की आबादी के मुताबिक केवल 22 करोड़ घरों में टेलीविजन है जबकि 80 से 90 करोड़ लोगों के पास स्मार्टफोन मौजूद है। कई घर तो ऐसे हैं जिन्होंने टेलीविजन का भी खरीदा ही नहीं। डायरेक्ट टू मोबाइल सर्विस टेक्नोलॉजी से सरकार लोगों को डायरेक्ट मैसेज वीडियो को रूप में भेज सकेगी।

सीधे स्मार्टफोन में मिलेगी लोकल एमरजेंसी की खबर : D2M टेक्नोलॉजी

इस टेक्नोलॉजी के तहत किसी भी आपदा जैसी स्थिति होने पर सरकार द्वारा जानकारी सीधे लोगों के मोबाइल पर पहुंच जाएगी। इसके अलावा सरकार द्वारा यदि कोई लोकल इमरजेंसी लागू करनी होगी तो वह इस टेक्नोलॉजी की मदद से वीडियो के माध्यम से जनता तक जानकारी पहुंचा सकेगी। इसकी मदद से सरकार डायरेक्ट इमरजेंसी अलर्ट हमारे मोबाइल तक भेज पाएगी।

लोगों को मिलेगी 5G की बेहतरीन सुविधा :

डायरेक्ट टू मोबाइल सर्विस से जुड़ी खबर के बाद लोगों का सोचना जायज़ है कि कई बड़ी कंपनियां जैसे वोडाफोन, एयरटेल, जिओ आदि जो मोबाइल डाटा उपलब्ध करवा रही हैं, वह नुकसान में जाएंगे लेकिन संयुक्त रूप से देखें तो लंबे समय के बाद इस कंपनियों का फायदा ही फायदा है। डिवाइस की अधिकता एवं मोबाइल टावर की कमी के कारण लोगों को 5G की वह सुविधा नहीं मिल पाती है, जो इंटरनेशनल स्तर पर उन्हें मिलनी चाहिए। डायरेक्ट टू मोबाइल सर्विस टेक्नोलॉजी से जिस तरह लोग जुड़ते जाएंगे, टावर लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी और लोग बिना इंटरनेट के आसानी से कंटेंट प्राप्त कर पाएंगे।

यह भी पढ़े : 24 करोड़ का बजट बदल देगी 500 से अधिक स्टेशनों की हालत, जानिए कैसे काम करेगा अमृत भारत स्टेशन स्कीम?

वेबसाइट की सिक्योरिटी की समस्या को आज ही दूर करे ticktry.com

 

Advertisement

Comments