Tuesday, May 28, 2024
हिंदी समाचार पोर्टल


फिल्म ” ओपनहाइमर ” ने साधा हिन्दू धर्म पर निशाना, सेक्स सीन में दिखाया गया भगवत गीता

फिल्म ” ओपनहाइमर” ने साधा हिन्दू धर्म पर निशाना, सेक्स सीन में दिखाया गया भगवत गीता   विश्व में पहले…

By शाम्भवी मिश्रा , in दुनिया  मनोरंजन  , at July 25, 2023 Tags: , ,


फिल्म ” ओपनहाइमर” ने साधा हिन्दू धर्म पर निशाना, सेक्स सीन में दिखाया गया भगवत गीता

 

विश्व में पहले परमाणु बम के मास्टरमाइंड रॉबर्ट ओपनहाइमर कि बियोपिक बीते शुक्रवार को सिनेमा घरों में रिलीज हो चुकी है।  रिलीज होने के साथ ही इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस में धमाल मचा दिया है। बता दें कि यह फिल्म क्रिस्टोफर नोलन के महाकाव्य पर आधारित है और इस फिल्म में रॉबर्ट ओपनहाइमर का किरदार सिलियन मर्फी निभाते हुए दिखाई दिए हैं।

 

फिल्म ओपनहाइमर का एक दृश्य भारतीय दर्शकों को पसंद नहीं आ रहा है और लगातार इस दृश्य को लेकर भारत में फिल्म का विरोध किया जा रहा है। आपको बता दें कि फिल्म के इस सीन में ओपनहाइमर को अपनी साथी महिला के साथ सम्भोग करते हुए दिखाया गया है और इस दौरान वह महिला ओपनहाइमर से गीता के कुछ श्लोकों को पढ़वती है। यह दृश्य भारत में फिल्म प्रेमियों को नागवार गुजरा है।

 

सूचना आयुक्त ने उठाया सवाल

 

बता दें कि फिल्म ओपनहाइमर के इस विवादित दृश्य पर भारत सरकार के सूचना आयुक्त उदय माहुकर ने भी विरोध जताया है, और साथ ही सेव” कल्चर सेव इंडिया फाउंडेशन” की एक विज्ञप्ति को भी शेयर किया है। इसके साथ ही सूचना आयुक्त का कहना है कि इस बात से हर कोई हैरान  है कि केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड ने इस फिल्म को ऐसे आपत्ति जनक दृश्य के साथ मंजूरी कैसे दे दी है।

 

क्या बताती है फिल्म

 

फिल्म ओपनहाइमर अमेरिकन फिजिसिस्ट जे रॉबर्ट ओपनहाइमर कि जीवनी के बारे में बताती है। ओपनहाइमर को पूरे दुनिया में फादर ऑफ़ द एटम बॉम के नाम जाना जाता है। पहली बार परमाणु बम का परीक्षण मेक्सिको में ओपनहाइमर के ही नेतृत्व में किया गया था। यह फिल्म ओपनहाइमर और उनके द्वारा किए गए अनोखे कार्यों को दर्शाती है।

 

भगवत गीता पर विवाद

 

बता दें कि फिल्म ओपनहाइमर में भगवत गीता को दिखाए जाने के विषय में कोई भी विवाद नहीं हुए है बल्कि असल विवाद इस बात पर है कि भगवत गीता के एक पर्टिकुलर श्लोक को सेक्स सीन के साथ फिल्माया गया है। और यही कारण है कि लोगों के अंदर इस फिल्म को लेकर गुस्सा है । 

 

परमाणु और ओपनहाइमर से जुड़ा इतिहास

 

इस पूरे मुद्दे को अच्छे से समझ पाने के लिए जरूरी है इतिहास को जानना। दोस्तों वर्ल्ड वार 2 सन 1939 में शुरू हुआ था।शुरुआती समय में अमेरिका ने वर्ल्ड वार से दूरी बना कर रखी थी। और वही दूसरी ओर यूरोप में जापान,रशिया और अन्य देशों में जंग छिड़ चुकी थी। इधर जर्मनी के लीडर हिटलर भी बहुत ही रफ्तार में जीत हासिल करते हुए आगे बढ़ते जा रहे थे।

 

ऐसे में जर्मनी से पूरे विश्व को खतरा था।चर्चा यह भी थी कि बहुत जल्द जर्मनी परमाणु बम का निर्माण करने वाला है। एटम बॉम बनने कि सारी तैयारी जर्मनी द्वारा पूरी कि जा रही थी। लेकिन इसी बीच वर्ल्ड वार 2 में एक ऐसा मोड़ आया जिसने इतिहास को बदल कर रख दिया। इस दौरान जापान ने अमेरिका के पर्ल हार्बर पोर्ट पर हमला कर दिया था। जापान द्वारा हमला किए जाने पर अमेरिका आक्रोश से भर गया था, और अंततः अमेरिका भी वर्ल्ड वार 2 में शामिल हो गया।

 

बता दें कि इन दिनों अमेरिका में भी परमाणु बम के निर्माण कि तैयारी चल रही थी लेकिन यह कार्य बहुत तेजी से नहीं हो रहा था,लेकिन जैसे ही अमेरिका ने वर्ल्ड वार में छलांग लगाई वैसे ही परमाणु निर्माण कि प्रक्रिया भी तेजी से शुरू हो गई। और इस पूरी प्रक्रिया एवं परमाणु परीक्षण का लीडर ओपनहाइमर को बनाया गया।

 

ओपनहाइमर की अध्यक्षता ने मेक्सिको में बहुत ही रहस्यमय तरीके से परमाणु बम का परीक्षण किया गया। इस परीक्षण के बारे में बहुत कम लोगों को ही जानकारी थी अमेरिका के राष्ट्रपति के अलावा वहां के उपराष्ट्रपति को भी इस बात कि जानकारी नहीं थी। लेकिन परमाणु परीक्षण के पहले ही उस समय के राष्ट्रपति एयसन ओवर का निधन हो गया और उपराष्ट्रपति पावर में आ गए और तब एस करूमेन को इस प्लैनिंग के बारे में पता लगा जिसने उन्हे काफी हैरान भी किया। 

 

रॉबर्ट ओपनहाइमर और भगवत गीता

 

आइए बताते हैं कि आखिर रॉबर्ट ओपनहाइमर और भगवत गीत के बीच क्या संबंध है और उनकी बायोपिक में भगवत गीता को दिखाया ही क्यों गया है। आपको बता दें की इस पूरे प्रोजेक्ट को मैनहैटन प्रोजेक्ट कहा जाता है जिन्होंने पहला परमाणु बम बनाया था। और रॉबर्ट ओपनहाइमर के नेतृत्व में यह परीक्षण होना था। बता दें कि ओपनहाइमर संस्कृत का ज्ञान रखते थे और उन्होंने भगवत गीता का भी अध्ययन किया था जिससे वह काफी प्रभावित थे। एक इंटरव्यू के दौरान रॉबर्ट ओपनहाइमर ने यह कहा था कि जब 1945 में उन्होंने पहली बार परमाणु का विस्फोट देखा था,तो यह विकराल दृश्य देख कर उन्हे भगवत गीता के एक श्लोक कि याद आई थीं ओपनहाइमर ने भगवत गीता के श्लोक को भी अपने इंटरव्यू में शामिल किया था और कहा था” Now I am become Death,the destroyer of world”.

 

ओपनहाइमर द्वारा दिए के इंटरव्यू से ही प्रेरित होकर फिल्म में गीता के इस श्लोक का अंग्रेजी अनुवाद दर्शाया गया है। लेकिन इस वाक्य को इंटिमेट सीन के साथ दर्शाया गया है जिसके कारण फिल्म पर यह सारा विवाद शुरू हो गया है।

 

सेंसर बोर्ड ने दिया UA रेटिंग

 

बता दें कि फिल्म ओपनहाइमर निर्देशक क्रिस्टोफर नोलन कि ऐसी पहली फिल्म है जिसे “R” रेटिंग प्राप्त हुई है। वहीं स्टूडियो के द्वारा इस फिल्म कि लंबाई को घटाने के लिए इसमें दर्शाए गए सेक्स सीन को काट दिया गया है और उसके बाद भारतीय सेंसर बोर्ड ने इस फिल्म को UA रेटिंग प्रदान कि है। खबरों की मानें तो स्टूडियो ने पहले ही फिल्म में इंटिमेट सीन्स को कट कर दिया था क्युकी इस बात को अनुमान पहले ही लगाया जा चुका था कि फिल्म को इन सीन्स के साथ रिलीज होने कि अनुमति सेंसर बोर्ड द्वारा नहीं दी जाएगी।

 

Domain Registration | Web Hosting | SSL Security visit ticktry.com

Read This Also: I.N.D.I.A पर शुरू हई सियासी जंग, जुड़ने से पहले ही क्या बिखर जाएगा विपक्ष 

 

 

Advertisement

Comments