Saturday, April 13, 2024
हिंदी समाचार पोर्टल


चंद्रयान 3 से कुछ ऐसा नजर आया चांद, इसरो ने जारी कि चंद्रमा का पहला वीडियो

चंद्रयान 3 से कुछ ऐसा नजर आया चांद, इसरो ने जारी कि चंद्रमा का पहला वीडियो बीते रविवार 6 अगस्त…

By शाम्भवी मिश्रा , in देश , at August 8, 2023 Tags: , ,


चंद्रयान 3 से कुछ ऐसा नजर आया चांद, इसरो ने जारी कि चंद्रमा का पहला वीडियो

बीते रविवार 6 अगस्त को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने चंद्रयान-3 द्वारा कमरे में कैद चंद्रमा की पहली वीडियो अपने ट्विटर हैडल पर जारी की है । शनिवार 5 अगस्त को Chandrayaan 3 चांद की कक्षा में प्रवेश कर गया था और चंद्रमा का यह नजारा उस दौरान Chandrayaan 3 द्वारा कैद किया गया । इसरो द्वारा जारी किए गए इस वीडियो में चंद्रमा पर नजर आ रहे कई सारे गड्ढे साफ तौर पर देखे जा सकते हैं।

इसरो ने किया ट्वीट

बता दें कि चंद्रमा कि यह वीडियो चंद्रयान-3 मिशन के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल द्वारा ट्वीट हुआ था। इसमें यह बताया गया था कि 5 अगस्त को Chandrayaan 3 चंद्रमा की कक्षा में प्रवेश कर चुका है और इस दौरान चंद्रयान-3 को चंद्रमा का जो नजारा दिखा उसको इसरो के मिशन मून आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर ट्वीट किया गया जिसे हम सब देख रहे हैं । इसरो द्वारा लांच किया गया चंद्रयान-3 और यह मिशन मून सही दिशा में आगे बढ़ रहा है और यह अच्छी तरीके से पूरा हो रहा है । इसके बाद इसरो ने यह उम्मीद भी जताई है कि इस महीने के अंत तक लैंडर विक्रम भी चंद्रमा की सतह पर सफलतापूर्वक लैंडिंग कर लेगा।

मून ऑर्बिट में किया प्रवेश

आपको बता दें कि बीते 14 जुलाई को यानी कि 23 दिन पहले chandrayaan-3 को लांच किया गया था। chandrayaan-3 पहला ऐसा यान है जो चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतरने के लिए लांच किया गया है। यहां पर अभी तक किसी भी देश का कोई भी यान नहीं पहुंच सका है। बता दें कि भारत का यह तीसरा मानवरहित मिशन है और chandrayaan-3 ने बीते शनिवार को चंद्रमा के ऑर्बिट में सफलतापूर्वक प्रवेश प्राप्त कर लिया है।

महसूस हो रहा है चंद्रमा का गुरुत्वाकर्षण

इस मिशन के अंतर्गत Chandrayaan 3 को बिना किसी बाहरी गड़बड़ी के चंद्रमा के करीब लाने वाली सभी आवश्यक प्रक्रियाएं बेंगलुरु में स्थित अंतरिक्ष इकाई द्वारा संपन्न किया गया। इसके बाद चंद्रयान-3 ने इसरो को एक मैसेज भी भेजा जिसमें यह बात बताई गई कि चंद्रयान-3 चंद्रमा के गुरुत्वाकर्षण बल को महसूस कर पा रहा है। बता दें कि आने वाले 17 अगस्त तक तीन और अभियान प्रक्रियाएं चंद्रयान-3 के साथ होने वाली है, जिसके अंतर्गत रोवर प्रज्ञान के साथ लैंडिंग मॉड्यूल विक्रम प्रश्लेष्ण माड्यूल से अलग हो जायेगा और उसके बाद लैंडिंग की प्रक्रिया शुरू होएगी।

पार हुआ बड़ा मील का पत्थर

इसरो द्वारा लॉन्च चंद्रयान – 3 मिशन मून 600 करोड़ रुपए का एक बड़ा मिशन था, और Chandrayaan 3 के चंद्रमा के कक्षा में प्रवेश कर लेने से एक बड़ा मील का पत्थर इसरो ने पार कर लिया है। अभी तक चंद्रयान 3 पृथ्वी से चंद्रमा कि लगभग दो तीहाई दूरी को पार कर चुका है, ऐसा माना जा रहा है कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के लिए अगस्त महीने में आगे आने वाले सत्रह दिन बहुत ही मुख्य और विशेष होने वाले हैं।

टैक्स ने आम जनता का कर दिया है जीना हराम, जानें क्या होता है डायरेक्ट और इनडायरेक्ट टैक्स? वर्तमान समय

Advertisement

Comments